ज्यादा नींद आने का कारण और उपाय – Reasons for Excessive Sleeping in Hindi

सोना या नींद आना हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है। नींद का न आना या अनिद्रा की समस्या इस बात की निशानी है कि हमारा शरीर सही से कार्य नहीं कर रहा। आपने कई लोगों के मुँह से यह भी सुना होगा कि उन्हें बहुत अधिक नींद आती है। यही कारण है कि वो रात ही नहीं बल्कि दिन में भी सोये रहते हैं। दरअसल अधिक सोना भी एक बीमारी का लक्षण है जिसे हाइपरसोमनिआ कहा जाता है। इस बीमारी की स्थिति में मनुष्य कोई भी काम करते हुए सो जाता है। जो लोग इस बीमारी से पीड़ित होते हैं, उनमें ऊर्जा की कमी हो जाती है, जिसके कारण वो किसी भी कार्य को करने में रूचि नहीं लेते। उनका जीवन पूरी तरह से बदल जाता है। जानिए ज्यादा नींद आने का कारण और उपायों के बारे में।

ज्यादा नींद आने के कारण - Reasons for Excessive Sleeping in Hindi

तनाव - Stress

अधिक नींद आना आपके तनाव में होने की तरफ संकेत करता है। तनाव से आपका मन किसी काम में भी नहीं लगता और पूरा दिन केवल सोए रहने की इच्छा रहती है।

पोषक तत्वों की कमी - Nutritional Deficiencies

अगर आपके शरीर में पोषक तत्वों को कमी हो, तब भी आपको अधिक नींद आने की समस्या हो सकती है। पोषक तत्वों की वजह से शरीर कमजोर हो जाता है, जिससे नींद आती है। आयरन की कमी होने पर भी अधिक सोने का मन करता है।

पानी की कमी होना - Lack of Water

पानी की कमी होने से भी शरीर में ऑक्सीजन, खून और अन्य पोषक तत्वों का संचार सही से नहीं हो पाता। इससे शरीर में थकाबट हो जाती है और ज्यादा नींद आती है।

चाय-कॉफी का अधिक सेवन - Excess of Tea & Coffee

अधिक कैफीन युक्त आहार लेने से भी अधिक नींद आने की समस्या हो जाती है। इसलिए, अधिक चाय-काफी आदि के सेवन से भी बचे। इसके अलावा नशीले तत्वों के सेवन से भी नींद अधिक आती है।

शारीरिक गतिविधियाँ न करना 

जो लोग कोई कसरत या योगा आदि नहीं करते। इसके साथ ही जो लोग कम शारीरिक गतिविधियां करते हैं, उनमे भी अधिक नींद की समस्या देखी जाती है।

बीमारियाँ - Disease

लोगों में कुछ बीमारियाँ भी नींद अधिक आने की समस्या का कारण हो सकती हैं जैसे अनीमिया, थायराइड, शुगर आदि। यह बीमारियाँ होने से शरीर थकान महसूस करता है। जिसके कारण नींद अधिक आती है। एकाग्रता से किसी काम को घंटों करने से भी नींद अधिक आती है। जैसे अधिक देर तक मोबाइल, कंप्यूटर आदि को ध्यान लगाकर देखने से शरीर पर बहुत अधिक बुरा प्रभाव पड़ता है और नींद पर इसका प्रभाव पड़ता है।

मोटापा - Fat

मोटापा भी अधिक नींद आने का एक कारण है। ऐसा भी पाया गया है कि जो लोग एक बार में अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते । उन्हें बार-बार नींद आती है।

ज्यादा नींद आने की समस्या को दूर करने के उपाय - Hypersomnia Treatment in Hindi

पोषक तत्वों का सेवन

  • शरीर फिट रहे और नींद भी कम आये, इसका सबसे अच्छा उपाय है पोषक तत्वों को ग्रहण करना। इसलिए, आप ऐसे आहार का सेवन करें जो ताज़ा और पचने में आसान हो।
  • तीखा या मिर्च-मसालेदार भोजन न केवल शरीर के लिए हानिकारक है बल्कि इससे अधिक नींद आती है। इसलिए अगर आपको अधिक नींद आती है तो ऐसा आहार न खाएं।
  • फैट भरे भोजन से भी नींद अधिक आती है। रात को सोते हुए खासतौर पर हलके भोजन का सेवन करें।
  • विटामिन-सी से भरपूर आहार भी नींद कम करने में मददगार हैं।

व्यायाम करें - Exercise Daily

व्यायाम या शारीरिक रूप से एक्टिव रहने से भी आपकी यह समस्या कम होगी। दिन में कम से कम तीस मिनटों तक व्यायाम करें। योग करने से भी आपको लाभ होगा।

घरेलू उपाय

  • इस समस्या को दूर करने के लिए पानी में थोड़ी सौंफ डाल कर उस पानी को उबाल लें। जब यह पानी एक चौथाई रह जाए तो इस पानी को सुबह और शाम को सेंधा नमक के साथ पीएं। इस समस्या से राहत मिलेगी।
  • लेमन टी पीने से भी अधिक नींद आने की समस्या से राहत मिलती है।
  • पान में लौंग को लपेट कर खाने से भी अधिक नींद आने की परेशानी दूर होती है।
  • पुदीने के पत्तों को पानी में उबालकर या सलाद में कच्चा प्याज खाने से भी नींद कम आती है |

नींद का अधिक आना ही नहीं बल्कि कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं का कारण हमारा बिगड़ता लाइफस्टाइल है। इसलिए हर परेशानी को दूर करने के लिए अपनी जीवनशैली को बदले। हर काम के लिए समय निकाले फिर वो चाहे व्यायाम हो, सही समय पर खाना-पीना हो या सही समय पर सोना। ऐसा करने से आप कई बीमारियों और परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।

Image Source : Excessive Sleep Solutions

Copyright © 2019, Gyan Samadhan All Rights Reserved.